क्या है G-20 Summit ? भारत के लिए क्यों है खास ? कौन-कौन से देश होते हैं इसमें शामिल...

By Reeta Tiwari | Posted on 14th Nov 2022 | विदेश
G20 summit

जानिए क्या है G 20 Summit का मकसद 

G 20 Summit इस बार इंडोनेशिया में हो रहा है. इस मीटिंग में देश के कई बड़े राजनेता, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री हिस्सा लेंगे. लेकिन कई लोगों इस बात की जानकारी नहीं है कि इस G 20 Summit में हिस्सा लेने वाले राजनेता यहां पर किस चीज पर चर्चा करते हैं और इस summit का मकसद और कौन इस Summit का सदस्य है. 

Also Read- Istanbul Blast : जानिए कब, कहां और किसने किया बम धमाका, महिला आतंकी थी शामिल.

क्या है G 20 Summit

जी-20 का गठन साल 1999 में हुआ. मुख्य रूप से इसका उद्देश्य दुनिया के आर्थिक विकास की चिंता करना और कारोबार के क्षेत्र में काम करना है. दरअसल, 1997-1999 के बीच आए वैश्विक आर्थिक संकट के बाद इस तरह के संगठन की ज़रूरत महसूस की गई और बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देशों ने इस संगठन की नींव डाली. साथ ही, मिड रेंज वाली अर्थव्यवस्था वाले देशों को भी इसमें शामिल किया गया है और इसके बाद से अलग-अलग देशों में ये इस G 20 Summit का आयोजन किया जाता है जहाँ पर सभी देश के बड़े राजनेता हिस्सा लेते हैं. 

जी-20 बैठक ये राजनेता लेते हैं हिस्सा 

इस जी-20 की बैठकों में ज्यादातर अलग-अलग देशों के वित्त मंत्री और सदस्य देशों के सेंट्रल बैंकों के गवर्नर हिस्सा लेते हैं. साल 2008 में नवंबर महीने में पहली बार जी-20 सम्मेलन का आयोजन हुआ. इसी सम्मेलन में सदस्य देशों के बीच सहमति बनी की अमेरिका में आए आर्थिक संकट के जवाब में सभी देश मिलकर काम करेंगे और हर साल जी-20 देशों का एक शिखर सम्मेलन आयोजित किया जाएगा. हर साल के शिखर सम्मेलन के लिए जी-20 देशों के वित्त मंत्री, सेंट्रल बैंकों के गर्वनर और देशों के शेरपा साल भर में कई बार बैठकें करते हैं.

G-20 बैठक का मकसद

इस G-20 बैठक की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, यह एक रणनीतिक प्लैटफॉर्म है जो दुनियाभर के बड़े और विकसित देशों के साथ-साथ तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था पर बात करे हैं और कैसे आगे बड़े इस बार चर्चा करते हैं. वहन भविष्य में दुनिया की अर्थव्यवस्था को तेजी से बढ़ाने और विकास की राह आसान बनाने के लिए जी-20 ग्रुप बेहद खास और रणनीतिक भूमिका अदा करता है.

ये देश हैं G-20 के सदस्य

इस समय G-20 में सदस्य वाले देश अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, रिपब्लिक ऑफ कोरिया, मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम, अमेरिका और यूरोपियन यूनियन हैं. इसके अलावा स्पेन इस गुट का स्थायी मेहमान सदस्य है. हर साल होने वाले जी-20 सम्मेलन के लिए एक देश को अध्यक्ष चुना जाता है और वही देश बाकी सदस्यों को आमंत्रित करता है. 

Also Read- वंदे भारत एक्सप्रेस से कई गुना तेज दुनिया की ये 10 ट्रेन, जानिए क्या है इनकी रफ्तार

Reeta Tiwari
Reeta Tiwari
रीटा एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रीटा पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रीटा नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

Leave a Comment:
Name*
Email*
City*
Comment*
Captcha*     8 + 4 =

No comments found. Be a first comment here!

अन्य

प्रचलित खबरें

© 2022 Nedrick News. All Rights Reserved.