Facebook का नाम बदलकर Meta करने की क्या है वजह? जानिए इससे क्या कुछ बदल जाएगा?

By Ruchi Mehra | Posted on 29th Oct 2021 | टेक
facebook, meta

फेसबुक...ये सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म आजकल हर किसी की लाइफ का एक बड़ा हिस्सा बनकर रह गया। लोग अपने दिन का कुछ वक्त आजकल फेसबुक पर बिताने हुए नजर आते हैं। हमें देश-विदेश में घट रही घटनाओं को लेकर अपेडट करने से लेकर परिवार-दोस्तों से कनेक्टेड रखने तक फेसबुक इन सबमें हमारी मदद करती है।

जो फेसबुक आपके डेली लाइफ का हिस्सा बन गया है, उसमें एक बहुत ही बड़ा बदलाव किया गया है, जिसके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए। 

क्यों बदला गया फेसबुक का नाम?

दरअसल, फेसबुक के नाम को ही बदलकर 'मेटा' (Meta) कर दिया गया है। गुरुवार को इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने इसका ऐलान किया। अब इसके बाद आपके मन में कुछ सवाल इससे जुड़े आ रहे होंगे। आखिर वो क्या वजह है, जिसकी वजह से फेसबुक का नाम बदला गया? साथ ही फेसबुक का नाम बदलने से क्या कुछ बदलेगा? आइए इसके बारे में जान लेते हैं...

सबसे पहले बात करते हैं फेसबुक का नाम बदलने की वजह की। दरअसल, कंपनी के सीईओ फेसबुक को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म तक ही सीमित ना रहें। वो आगे बढ़कर मेटावर्स वर्ल्ड बनाने की तैयारी में हैं। 

मेटार्स वर्ल्ड तो आप ऐसे समझ सकते हैं, जैसे वर्चुअल रिएलिटी। यानी एक ऐसी दुनिया जहां डिजिटल तौर पर लोगों की मौजूदगी हो। डिजिटली लोग एक-दूसरे से मिल पाएं। इस वर्ल्ड की तरफ ही कदम आगे बढ़ाने के लिए फेसबुक का नाम बदलकर मेटा रखा गया है। मेटा वर्ल्ड की तरफ आगे बढ़ने के लिए कंपनी 10 हजार लोगों को हायर भी करने की तैयारी  में है, जो मेटावर्स बनाने में मदद करेंगे। 

वैसे फेसबुक ऐसी अकेली कंपनी नहीं है, जो मेटावर्स में निवेश कर रही हो, बल्कि माइक्रोसॉफ्ट जैसी बड़ी कंपनी ने भी इस दिशा में कदम आगे बढ़ा दिए।

इससे अब क्या कुछ बदलेगा? 

इसके बाद अगला सवाल है कि कंपनी के द्वारा उठाए गए इस कदम से क्या कुछ बदलेगा? जानकारी के लिए आपको बता दें कि कंपनी की केवल ब्रांडिंग ही बदली है, यानी सिर्फ फेसबुक कंपनी का ही नाम बदलकर मेटा किया गया है। कंपनी के हेडक्वॉटर पर अब फेसबुक की जगह मेटा लिखा जाएगा। ऐप के नाम में कोई बदलाव नहीं होगा और ना ही इसकी पेरेंट कंपनी के नामों में कोई बदलाव अभी हो रहा है। 

फेसबुक के साथ साथ इंस्टाग्राम, Whatsapp और मैसेंजर के नाम नहीं बदले जाएंगे। कंपनी के विभिन्न पदों में भी कोई बदलाव नहीं होगा, लेकिन एक दिसंबर से स्टॉक का स्टिकर MVRS के नाम से होगा। साथ ही कंपनी के हेडक्वॉटर के लोगो में भी बदलाव होगा। इससे अंगूठे वाला लाइक लोगो हटकर अब ये इनफिनिटी जैसा हो जाएगा। 

Ruchi Mehra
Ruchi Mehra
रूचि एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रूचि पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रूचि को वेब और टीवी का कुल मिलाकर 3 साल का अनुभव है। रुचि नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

अन्य

प्रचलित खबरें

© 2020 Nedrick News. All Rights Reserved. Designed & Developed by protocom india