TRAI लाएगा नया फीचर, बिना True Caller के भी अब कॉल करने पर दिखेगा नाम!

By Ruchi Mehra | Posted on 26th May 2022 | टेक
e-KYC based caller, TRAI

जैसा की आप सभी लोग जानते हैं की हम अपने फ़ोन में किसी Unknown नंबर से आई हुई कॉल को जानने के लिए थर्ड पार्टी एप्प जैसे कि true Caller या फिर किसी और एप्प का इस्तेमाल करते है। लेकिन क्या आप ये जानते है कि अब आपके पास अगर कोई अनजान नंबर से कॉल आती है, तो आपको बिना किसी दूसरे एप्प का उपयोग करें यह जानकारी मिल जाएगी कि कौन शख्स आपको कॉल कर रहा है।

दरअसल,  टेलीकॉम रेगुलेटर ट्राई (TRAI ) इस मैकेनिज्म काम कर रही है, जिसके जरिए किसी के फोन में आए कॉलर के नाम की जानकारी उसके सिम पर कराए गए केवाईसी वाले नाम से पता चलेगी। जाहिर है कि अभी तक अगर आपके पास किसी भी नंबर से फ़ोन आता था, तो आपकी स्क्रीन पर केवल कॉल करने वाले व्यक्ति का नंबर ही दिखता था। लेकिन आपको बता दें कि भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (Telecom Regulatory Authority of India) के लगातार किए जा रही कोशिशों के तहत इस फ्रेमवर्क के फाइनल होने के बाद अब आपको अपने फ़ोन पर यूजर का ekyc नाम भी शो होता है।

जल्द होगा TRAI का काम शुरू...

वहीं दूर संचार विभाग ने इस विषय पर लेकर TRI को निर्देश जारी कर दिए है। बता दें की यह फीचर ज्यादातर ट्रू कॉलर से मैच करता है। ट्राई के चेयरमैन पीडी वाघेला के मुताबिक, इस पर काम अगले कुछ महीनों में शुरू हो सकता है। उन्होंने बताया, अभी हमें इस पर रेफरेंस मिला है और जल्द ही हम काम शुरू कर देंगे। ट्राई पहले से ही इस तरह के मैकेनिज्म पर विचार कर रही थी, लेकिन दूरसंचार विभाग से रैफरेंस मिलने की वजह से इस पर काम जल्दी शुरू होगा। पीडी वाघेला ने आगे बताया कि इस फीचर के आने के बाद फेक कॉल्स से यूजर्स बच सकेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, फ्रेमवर्क पूरा होने के बाद इस फीचर को लेकर ज्यादा चीजें क्लियर हो पाएंगी।

फेक कॉल पर लगेगी लगाम!

एक जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक, इस फीचर के पूरा होने के बाद स्पैम कॉल से काफी हद तक छुटकारा मिल जाएगा। पीडी वाघेला ने यह भी कहा है कि फ्रैमवोर्क पूरा होने के बाद इससे जुड़ी बाकी की बातें भी साफ हो जाएगी। इसी के साथ ही आपको बता दें कि true caller जैसे एप्प सुविधा तो देते है लेकिन इसमें असुविधा के साथ कई बार सही जानकारी भी नही देता है। ट्रू कॉलर पर दिखाया गया नंबर कभी-कभी गलत भी होता है। लेकिन e-KYC-based caller पर आधार बेस्ड और इसमें यूजर्स के KYC पर बेस्ड नाम ही आपकी स्क्रीन पर नजर आएंगे। एक्सपर्ट्स के अनुसार मार्केट में इस फीचर के आने से स्पैम और फ्रॉड कॉल्स के बढ़ते मामलों में भारी कमी देखने को मिलेगी।

बता दें कि सरकार के वजह से शुरू की जाने वाली व्यवस्था में एक नई e-kyc सभी यूजर्स की होगी, जो की दूर संचार विभाग के मानदंडो के हिसाब से कराई जाएगी। इसके तहत केवाईसी कॉल करने वाले यूजर्स की पहचान भी होनी आसान होगी। e-KYC के अंतर्गत इस प्रक्रिया में टेलिकॉम कंपनियों की ओर से यूजर्स का केवाईसी के नाम पर अपना आधिकारिक नाम और पता दर्ज करना होगा। इसके अलावा e-KYC को शुरु कराने के लिए दस्तावेज के तौर पर वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या फिर बिजली के बिल की रसीद देनी होगी।

Ruchi Mehra
Ruchi Mehra
रूचि एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रूचि पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रूचि को वेब और टीवी का कुल मिलाकर 3 साल का अनुभव है। रुचि नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

Leave a Comment:
Name*
Email*
City*
Comment*
Captcha*     8 + 4 =

No comments found. Be a first comment here!

अन्य

प्रचलित खबरें

© 2022 Nedrick News. All Rights Reserved.