किराने की दुकान में काम करने वाले सूर्यकांत कैसे बन गए IPL के स्कोरकीपर ?

By Reeta Tiwari | Posted on 19th Aug 2020 | स्पोर्ट्स
Suryakant Panda, IPL 2020

कभी कभी जिंदगी पल भर में किस्मत को कुछ यूं जादुई तरीकों से बदलती है कि एक टाइम खुद को भी विश्वास करना थोड़ा मुश्किल सा हो जाता है. कुछ ऐसी ही कहानी इस बार यूएई में होने वाले IPL में स्कोरकीपर बनाये गए शख्स की है. पश्चिम बंगाल के चिनसुरा में रहने वाले इस शख्स के लिए इस बार का IPL उस सपने जैसा है जो हकीकत में बदल जाता है. आपको जानकर काफी हैरानी होगी कि इस बार IPL का स्कोरकीपर अपने जीवन में पहली बार एयरपोर्ट पर कदम रखेगा. आइये जानें कौन है ये शख्स?

किराने की दुकान में करते थे काम

इस शख्स का नाम सूर्यकांत पंडा है. उन्होंने सिर्फ 10वीं तक स्कूली शिक्षा हासिल की है और वे एक कुक के बेटे हैं. बचपन में काम की तलाश में उन्होंने ओडिशा से बंगाल की ओर रुख किया था. बंगाल में उन्होंने एक किराने की दुकान में काम करना शुरू किया. उनकी स्पोर्ट्स की तरफ बचपन से ही रुचि थी लेकिन आर्थिक समस्याओं के चलते वे अपने सपने को कभी पूरा नहीं कर पाए. उनका मन था कि वो क्रिकेटर बनें. हालांकि ऐसा नहीं है कि उन्होंने इसके लिए कोशिश नहीं की. इस समय 32 साल के हो चुके सूर्यकांत ने 2002 से 2003 के दौरान हुगली डिस्ट्रिक्ट एसोसिएशन के मैदान पर कुछ मैच खेले. लेकिन जिम्मेदारियों के चलते वो अपना गेम जारी नहीं रख सके.

मिल चुके हैं कई पुरूस्कार

सूर्यकांत हमेशा क्रिकेट से जुड़ना चाहते थे. वह हुगली जिला खेल संघ में स्कोरिंग करने लगे. 2015 में सीएबी की परीक्षा पास करने के बाद उनका स्कोरर के तौर पर चयन हो गया और फिर सीएबी द्वारा आयोजित अधिकांश मैचों के स्कोरर बन गए. सूर्यकांत को निरंतर प्रयास और दृढ़ संकल्प ने 2018 में सर्वश्रेष्ठ स्कोरर का पुरस्कार दिलाया. सीएबी के सचिव अविषेक डालमिया ने उन्हें पुरस्कृत किया. सूर्यकांत पंडा अपनी सभी उपलब्धियों का श्रेय मेंटर कौशिक साहा और रक्तिम साधु को देते हैं. रक्तिम साधु कहते हैं, ‘यह मेरे लिए बहुत गर्व की बात है. वह सीखने और सिखाने में बेहद रुचि रखता है. मुझे उससे बहुत उम्मीदें हैं.’

सूर्यकांत ने जताई ख़ुशी

हुगली डिस्ट्रिक्ट स्पोर्ट्स एसोसिएशन के संयुक्त सचिव विकास मल्लिक ने कहा, ‘पूरे हुगली स्पोर्ट्स एसोसिएशन को उनकी उपलब्धि पर गर्व है. वह खुद की मेहनत से यहां तक पहुंचा है. मुझे तब ज्यादा खुशी होगी, जब वह बीसीसीआई की परीक्षा पास कर लेगा. उसे देखकर कई अन्य भी प्रेरित हो सकते हैं.’ बता दें कि सूर्यकांत 19 अगस्त को बेंगलुरु और फिर 27 अगस्त को दुबई के लिए उड़ान भरेंगे. IPL के मुकाबले 19 सितंबर से 10 नवंबर तक खेले जायेंगे. उन्होंने कहा, ‘मैं फुटबॉलर बनना चाहता था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. जब उन्होंने (सूर्य) मुझे बताया कि वह आईपीएल के लिए चुने गए हैं, तो मैं बहुत खुश हुआ. मैं उन्हें अपने कर्मचारी के रूप में कभी नहीं देखता, वह मेरे लिए भाई या दोस्त की तरह हैं.’

Reeta Tiwari
Reeta Tiwari
रीटा एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रीटा पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रीटा नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

अन्य

लाइफस्टाइल

© 2020 Nedrick News. All Rights Reserved. Designed & Developed by protocom india