WB SSC Scam: अर्पिता मुखर्जी के घर से छापेमारी में अब तक ये हुआ बरामद, 500 करोड़ कैश, गोल्ड समेत इतने और खजाने जब्त

By Priyanka Yadav | Posted on 28th Jul 2022 | देश
SSC scam, partha chatterjee

WB SSC Scam: पश्चिम बंगाल के दीदी की सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी माने जानी वाली अर्पिता मुखर्जी इन दिनों देश में चर्चा का विषय है। अर्पिता के ठिकानों से अब तक कुल 50 करोड़ रुपये कैश मिले है। इतने कैश मिलने से हर कोई हैरान है। 

अर्पिता के घर से जहां पहली छापेमारी में ईडी को 21 करोड़ रुपए कैश मिले थे। इसके अलावा 20 मोबाइल फोन और 50 लाख की ज्वैलरी भी जब्त हुई। साथ ही 60 लाख की विदेश करेंसी भी बरामद हुई। इतना सब मिलने के बाद ईडी ने अर्पिता को गिरफ्तार कर लिया था। 

बुधवार की छापेमारी में इतना गोल्ड बरामद

वहीं अब अर्पिता के दूसरे फ्लैट से बुधवार को छापेमारी के दौरान बड़ी मात्रा में गोल्ड मिला। ईडी ने 4.30 करोड़ रुपये का गोल्ड बरामद किया है। इसमें 1-1 किलो की तीन सोने की ईटें, 1 सोने का पैन और आधा-आधा किलो के 6 सोने के कंगन समेत कई और ज्वैलरी भी बरामद हुई है।

पूछताछ में कई और संपत्तियों का जिक्र

ईडी की पूछताछ में अर्पिता ने अपनी कई और संपत्तियों का कबूलनामा किया। इन संपत्तियों में से एक कोलकाता के बेलघरिया स्थित फ्लैट भी था। ईडी इस फ्लैट में दरवाजा तोड़कर घुसी और अर्पिता के टॉयलेट से बड़ी मात्रा में नोटों के गड़े बंडल मिलने पर हैरतअंगेज रह गई। ईडी को अर्पिता के घर से 27.9 करोड़ रुपए कैश मिला। बरामद हुए इस कैश में 2000 और 5000 के नोटों के बंडल थे। मालूम हो कि नोटों को 20-20 लाख और 50-50 लाख के बंडल बनाकर रखा गया था। ईडी के दोनों दिन की कार्रवाई का हिसाब 48.9 करोड़ यानि की तकरीबन 50 करोड़ रूपये हुआ है। 

Also Read: Parth-Arpita News : क्या 'Arpita Mukherji' ममता के मंत्री पार्थ चटर्जी की सीरियस गर्लफ्रेंड है, ब्लैक डायरी खोल रहीं है कई राज?


11 घंटों तक चली छापेमारी

अर्पिता मुखर्जी के बेलघरिया फ्लैट पर 10 से11 घंटे चली छापेमारी गुरुवार सुबह साढ़े पांच बजे खत्म हुई। ईडी छापेमारी के दौरान नकदी और सोने के अलावा संपत्ति के कुछ दस्तावेज भी बरामद किए गए। ईडी के अधिकारियों ने छापेमारी के दौरान जब्त किए गए सामानों को 10 लोहे के चेस्टों में भरकर ले गए।


कैश गिनने के लिए SBI से चार बड़ी मशीनें मंगाई

अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों से हुई छापेमारी के दौरान जब्ती को लेकर ईडी के अधिकारियों ने बताया कि उनके फ्लैट से अली बाबा के लोहे के संदूक से कीमती सामान निकल रहा था। इतनी बड़ी मात्रा में नकदी बरामद हुई कि बुधवार को ईडी को नोट गिनने के लिए भारतीय स्टेट बैंक से चार बड़ी नकदी-गिनती मशीनों को फ्लैट में मंगाना पड़ा। जिसके बाद कई घंटों तक नोटों की गिनती चलती रही।


अलमारी खोलते ही गिरने लगा कैश

ईडी के अधिकारियों ने हाउसिंग एसोसिएशन के सचिव की मौजूदगी में ताला तोड़ने के बाद क्लब टाउन अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल पर स्थित अर्पिता के फ्लैट पर छापा मारा। मिली जानकारी के मुताबिक, जैसे ही अधिकारियों ने वार्डरोब और अलमारियां खोली वैसे ही 2,000 रुपये और 500 रुपये के नोटों के डिब्बे धड़ाधड़ गिरने लगे। छापेमारी के दौरान पूछताछ करने पर स्थानीय लोगों ने बताया कि अर्पिता मुखर्जी अपनी गिरफ्तारी से तकरीबन तीन दिन पहले आखिरी बार फ्लैट पर आई थीं।


ईडी को मिले जरुरी दस्तावेज

गौरतलब है कि अर्पिता मुखर्जी के घर से नोटों का पहाड़ बरामद होने के बाद हर कोई हैरान है। इतनी बड़ी मात्रा में कैश, गोल्ड और ज्वैलरी बरामद होना बहुत बड़ी बात है। अर्पिता के घर से इतना सब मिलने के बाद कई महत्वपूर्ण कागजात भी हाथ लगे थे। 

क्या है पूरा मामला

बता दें कि हाल ही में ईडी ने टीचर भर्ती घोटाले से जुड़े मामले में पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस दौरान ईडी को कुछ पर्चियां मिली। इन पर्चियों में वन सीआर अर्पिता और फॉर सीआर अर्पिता लिखा था। जिसके बाद इन्हीं सबूतों के आधार पर ईडी को शक हो गया था कि कैश अर्पिता मुखर्जी के पास रखा गया है। इसके बाद ईडी ने अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों पर रेड मारी। इस दौरान बड़ी मात्रा में कैश समेत खजाने जब्त किए गए। वहीं 23 जुलाई की कार्रवाई के दौरान अर्पिता मुखर्जी के ङर से एक काली डायरी भी जब्त की गई थी। कहा जा रहा है कि ये डायरी बंगाल सरकार के Department of Higher And School Education की है। इस डायरी के 40 पन्नों में ऐसी डिटेल्स लिखी हुई है जो SSC घोटाले के काले चिट्ठे खोल सकती है।

Priyanka Yadav
Priyanka Yadav
प्रियंका एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। प्रियंका पॉलिटिक्स, हेल्थ, एंटरटेनमेंट, विदेश, राज्य की खबरों, पर एक समान पकड़ रखती है। प्रियंका को वेब और टीवी का कुल मिलाकर ढाई साल का अनुभव है। प्रियंका नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

Leave a Comment:
Name*
Email*
City*
Comment*
Captcha*     8 + 4 =

No comments found. Be a first comment here!

अन्य

प्रचलित खबरें

© 2022 Nedrick News. All Rights Reserved.