...तो गाजियाबाद बुजुर्ग मामले में सपा नेता ने ही फैलाया था सारा "झूठ"? पीड़ित के साथ फेसबुक पर लाइव आकर कहीं थीं भड़काऊ बातें

By Ruchi Mehra | Posted on 17th Jun 2021 | देश
ghaziabad case, sp leader umed pehalwan

गाजियाबाद में मुस्लिम बुजुर्ग शख्स के साथ मारपीट का मामला इस वक्त जबरदस्त सुर्खियों में हैं। इस मामले के दो एंगल निकलकर सामने आ रहे हैं। एक तरफ तो पीड़ित बुजुर्ग व्यक्ति हैं, जिनकी बुरी तरह से पिटाई की गई और दाढ़ी काटी गई। उनका ये कहना है कि मारपीट के दौरान उनसे 'जय श्री राम' के नारे लगवाने की कोशिश हुई। उनके इस बयान के बाद इस मामले में सांप्रदायिक रंग दिया गया। 

लेकिन इसके बाद जब गाजियाबाद पुलिस की जांच की, तो एकदम अलग ही बात निकलकर सामने आई। पुलिस के मुताबिक ये मामला ताबीज से जुड़ा है। 'जय श्री राम' के नारों से इसका कोई लेना-देना ही नहीं। पुलिस के अनुसार बुजुर्ग व्यक्ति ताबीज बनाने का काम करता था। कुछ लोगों पर उसका उल्टा असर हो गया, जिसकी वजह से उनके साथ मारपीट हुई। 

इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर लोग दो अलग-अलग गुटों में बंट गए हैं। कुछ बुजुर्ग व्यक्ति के साथ खड़े नजर आ रहे हैं, तो कुछ गाजियाबाद पुलिस की जांच को सही मानकर, यूपी चुनाव से पहले प्रदेश का माहौल खराब करने के आरोप लगा रहे हैं। 

कई लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ केस

इस मामले के चलते ट्विटर से लेकर कई जानी-मानी हस्तियों के खिलाफ केस दर्ज हो गया है। गाजियाबाद पुलिस पहले ही इस मामले को लेकर ट्विटर समेत 9 लोगों के खिलाफ कई धाराओं में केस दर्ज कर चुकी हैं, जिसमें पत्रकार मोहम्मद जुबैर, राणा अय्यूब के अलावा कुछ नेता भी शामिल हैं। इसके अलावा एक्टर्स स्वरा भास्कर और ट्विटर इंडिया के प्रबंधक मनीष माहेश्वरी समेत अन्य लोगों के खिलाफ गुरुवार को दिल्ली में एक शिकायत दर्ज हुई।

मामले में सपा कनेक्शन भी निकलकर आया सामने 

वहीं इस मामले का समाजवादी पार्टी से भी कनेक्शन सामने आया है। एक केस स्थानीय सपा नेता उम्मेद पहलवान इदरीसी के खिलाफ भी दर्ज हुआ है। इस पूरे मामले के पीछे इनका ही हाथ होने का आरोप लगा है। सपा नेता पर ये आरोप हैं कि इन्होंने ही पीड़ित बुजुर्ग अब्दुल समद से झूठा बयान दिलवाते हुए फेसबुक पर लाइव किया था, जिसके बाद ये मामला सुर्खियों में आया। यही नहीं बताया ये भी जा रहा है कि उम्मेद पहलवान ने ही बुजुर्ग को थाने में केस दर्ज कराने में मदद की थीं। फिलहाल पुलिस इन स्थानीय सपा नेता की तलाश में जुटी हैं।

है क्या ये पूरा मामला?

दरअसल, हुआ कुछ यूं था कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हुई। इस वीडियो में एक बुजुर्ग मुस्लिम शख्स जिनका नाम अब्दुल समद सैफी है, उनके साथ कुछ लोग जबरदस्त मारपीट करते नजर आ रहे थे। थप्पड़ों के साथ साथ डंडों से भी उनको मारा जा रहा था। इसके अलावा वीडियो में ये भी देखने को मिला कि उनकी दाढ़ी भी कैंची चलाई गई। वीडियो की ऑडियो म्यूट थीं, लेकिन बुजुर्ग शख्स ने दावा किया कि मारपीट के दौरान उनसे जबरदस्ती जय सिया राम के नारे लगवाने के प्रयास भी हुए। 

सपा नेता ने ही फेसबुक पर किया था लाइव

मारपीट के बाद इस केस में जिस दिन FIR दर्ज हुई, तब ही सपा नेता उम्मेद पहलवान ने अपने बगल में बुजुर्ग को बैठाकर फेसबुक पर लाइव किया था। उन्होंने बुजुर्ग व्यक्ति के साथ अपने ऑफिस से फेसबुक पर लाइव किया। जहां बुजुर्ग ने अपने साथ हुई घटना के बारे में बताया था। हालांकि पुलिस की जांच में मामला ताबीज से जुड़ा निकलकर सामने आया। 

इसके बाद ही स्थानीय सपा नेता घिर गए हैं। उन पर ये आरोप लगे हैं कि इन्होंने इस दौरान भड़काऊ बातें बोलीं थीं और गलत तथ्यों को सार्वजनिक किया, जिसकी वजह से इस मामले ने इतना तूल पकड़ा। उन्होंने आरोपियों को ललकारते हुए कहा था कि इस तरह की हरकतें बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगर ऐसा जुल्म किया तो चीर दूंगा, फाड़ दूंगा।

Ruchi Mehra
Ruchi Mehra
रूचि एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रूचि पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रूचि को वेब और टीवी का कुल मिलाकर 3 साल का अनुभव है। रुचि नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

Leave a Comment:
Name*
Email*
City*
Comment*
Captcha*     8 + 4 =

No comments found. Be a first comment here!

अन्य

प्रचलित खबरें

© 2022 Nedrick News. All Rights Reserved.