क्या जितिन प्रसाद की तरह कपिल सिब्बल भी छोड़ेंग पार्टी? बोले- अगर नेतृत्व कहें तो मैं...

By Ruchi Mehra | Posted on 10th Jun 2021 | देश
kapil sibal, congress

कांग्रेस पार्टी इन दिनों गहरे संकट में हैं। एक के बाद एक युवा नेता पार्टी का जिस तरह से साथ छोड़कर जा रहे हैं, वो चिंता का विषय है। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले जितिन प्रसाद के कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने के बाद एक बार से पार्टी के अंदर सियासी घमासान मच गया है। साथ ही साथ उन G 23 नेताओं को लेकर भी चर्चाएं शुरू हो गईं, जो पार्टी नेतृत्व से असंतुष्टि जाहिर कर चुके हैं। पहले सिंधिया, अब जितिन प्रसाद..आगे कौन सा बड़ा नेता पार्टी का साथ छोड़कर जाएगा इसको लेकर खूब चर्चाएं हो रही हैं। 

जितिन प्रसाद की तरह कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल भी G-23 नेताओं की लिस्ट में शामिल थे। तो क्या वो भी अब कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होंगे? इसके जवाब में कपिल सिब्बल ने कहा कि इस तरह के फैसले को मेरे मृत शरीर से होकर गुजरना पड़ेगा। सिब्बल ने खुद को सच्चा कांग्रेसी बताते हुए कहा कि वो कभी भी बीजेपी में शामिल नहीं होंगे। इसके अलावा उन्होंने जितिन के बीजेपी में जाने पर हैरानी जताई और साथ में इशारों-इशारों में पार्टी आलकमान को ये मैसेज दिया कि अब सुनने का वक्त आ गया है। 

'मरते दम तक नहीं होऊंगा बीजेपी में शामिल'

एक इंटरव्यू में बीजेपी के जुड़ने से सवाल पर कपिल सिब्बल बोले- "हम सच्चे कांग्रेस हैं। जिंदगी भर मैं कभी भी बीजेपी में शामिल होने को लेकर नहीं सोचूंगा। इस तरह के फैसले को मेरे मृत शरीर से होकर गुजरना होगा।" आगे उन्होंने कहा कि हां, अगर पार्टी नेतृत्व मुझे जाने को कहे, तब कांग्रेस छोड़ने के बारे में सोच सकता हूं। लेकिन तब भी बीजेपी में कभी भी शामिल नहीं होऊंगा।" 

'कांग्रेस छोड़ने के हो सकते हैं कई कारण, लेकिन...'

कपिल सिब्बल ने आगे जितिन प्रसाद के बीजेपी में शामिल होने पर हैरानी जताई। वो बोले कि अगर किसी व्यक्ति को ऐसा लगता है कि उसे कुछ नहीं मिल रहा, तो वो पार्टी छोड़ सकता है। जितिन के पास कांग्रेस छोड़ने के कई अच्छे कारण हो सकते हैं। इसके लिए मैं उनको दोषी नहीं ठहराता, लेकिन वो जिस आधार पर बीजेपी में शामिल हुए मैं उनको इसके लिए दोषी ठहराता हूं।" 

जितिन ने जो कुछ भी किया, मैं उसके खिलाफ नहीं हूं। लेकिन बीजेपी में शामिल होने का फैसला मेरी समझ से परे है। ये बताता है कि हमने 'आया राम गया राम' से 'प्रसाद' पॉलिटिक्स का रूख कर लिया। जहां पर प्रसाद मिले वो पार्टी ज्वॉइन कर लो। सिब्बल आगे बोले कि हमने बंगाल में देखा। जब सबको लगा कि बीजेपी की जीत होगी, तो ज्यादा से ज्यादा लोगों ने बीजेपी ज्वॉइन कर ली। 

'जिस पार्टी को गालियां देते थे, उसी में चले गए'

उन्होंने कहा कि आप जिस पार्टी को गालियां दिया करते थे। उसे सांप्रदायिक और देशविरोधी बताते हैं, अब आपने उसी पार्टी को ज्वॉइन कर रहे हैं। पॉलिटिक्स पर जब आप विचारधारा के आगे पर नहीं चलेंगे, तो ऐसा ही लगेगा कि ये प्रसाद पॉलिटिक्स है। 

सिब्बल ने कांग्रेस नेतृत्व को दी ये सलाह

इसके अलावा आगे कपिल सिब्बल ने बातों ही बातों में कांग्रेस नेतृत्व को संदेश भी दिया। वो बोले कि मेरा पता है कि नेतृत्व जानता है कि दिक्कत क्या है। साथ ही मुझे उम्मीद भी है कि वो सुनेगा। क्योंकि हम बिना बात सुने राजनीति में नहीं रह सकते। अगर आप नहीं सुनेंगे तो आपके बुरे दिन शुरू हो जाएंगे।  

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी में लंबे समय अंदरूनी लड़ाई चल रही है। पिछले साल ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी का साथ छोड़ दिया था, जिसके चलते मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार गिर गई थीं। इसके अलावा राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने भी बगावती तेवर दिखाए थे। वहीं अब जितिन प्रसाद के कांग्रेस छोड़कर जाने से पार्टी को बड़ा झटका लगा।  

Ruchi Mehra
Ruchi Mehra
रूचि एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रूचि पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रूचि को वेब और टीवी का कुल मिलाकर 3 साल का अनुभव है। रुचि नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

अन्य

लाइफस्टाइल

© 2020 Nedrick News. All Rights Reserved. Designed & Developed by protocom india