सबसे ज्यादा केस आने के बावजूद केरल में बकरीद पर दी गई कई छूट, लोग उठा रहे सवाल!

By Ruchi Mehra | Posted on 18th Jul 2021 | देश
kerala, bakrid

कोरोना की दूसरी लहर की वजह से मचे हाहाकार के बाद देश में हालात सामान्य हो रहे हैं। आम जनजीवन पटरी पर लौटने लगा है। हालांकि इस बीच देश पर  तीसरी लहर का खतरा भी लगातार बना हुआ है। कई एक्सपर्ट्स कोरोना की थर्ड वेव को लेकर लगातार आगाह कर रहे हैं। साथ ही वो ये भी कहा जा रहा है कि थोड़ी सी भी लापरवाही देश पर बहुत भारी पड़ सकती हैं। यहीं नहीं पीएम मोदी भी लोगों की बढ़ती लापरवाही को लेकर कई बार चिंता जता चुके हैं। 

 यूपी में भी लगी कांवड़ यात्रा पर रोक

तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए फिलहाल देश में किसी भी तरह के धार्मिक आयोजन  नहीं करने की सलाह दी जा रही है। यही वजह है कि जब उत्तर प्रदेश में कांवड़ यात्रा को अनुमति मिलीं, तो इस पर सवाल उठने लगे। कई लोग कहने लगे कि कोरोना के बीच कांवड़ यात्रा को इजाजत देना खतरनाक साबित हो सकता है। इसको लेकर जब विवाद बढ़ने लगा, तो यूपी में भी कांवड़ यात्रा पर रोक लगा दी गई। उत्तराखंड और ओडिशा समेत दूसरे राज्यों पहले ही कांवड़ यात्रा पर रोक लगा चुके हैं। 

बकरीद के मौके पर केरल में दी जा रही छूट 

वहीं इस बीच बकरीद के मौके पर केरल में कुछ छूट दी गई है, जिस पर अब सवाल उठने लगे हैं। जी हां, वहीं केरल जो इस वक्त कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है। इस वक्त कोरोना के सबसे ज्यादा केस केरल से ही सामने आ रहे हैं। 

आज देश में कोरोना के कुल 41,157 नए केस सामने आए है। जिसमें से 16 हजार से भी अधिक केस तो अकेले केरल से ही आए। बीते 24 घंटों में केरल में 16,148 नए कोरोना केस सामने आए, जबकि 114 लोगों की मौत हुई। 

तीन दिन तक इन दुकानों को भी खुलने की इजाजत

फिर भी केरल में बकरीद के मौके पर कई तरह की छूट दी गई हैं। केरल की पिनराई विजयन सरकार ने बकरीद की वजह से 18, 19 और 20 जुलाई को लॉकडाउन में छूट देने का फैसला किया। इस दौरान A, B और C कैटेगरी की जरूरी सामान की दुकानों के साथ कपड़ा, जूतों-चप्पल, इलेक्ट्रॉनिक्स, ज्वैलरी की, हर तरह की जरूरत की दुकानें भी खुल सकेगीं। ये सभी दुकानों को खुलने की इजाजत सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक होगी। वहीं डी कैटेगरी के इलाकों वाली दुकानें को सिर्फ 19 जुलाई को ही खुलने की इजाजत केरल में दी गई है। त्योहार में खरीददारी करने के लिए ये छूट दी गई है।  

आपको जानकारी के लिए बता दें कि केरल में जिन इलाकों में संक्रमण दर 5 प्रतिशत से कम है, वो A श्रेणी में आते हैं, जबकि 5 से10 फीसदी के संक्रमण दर वाले इलाके B श्रेणी, 10 से 15 फीसदी वाले क्षेत्र C श्रेणी में और 15 फीसदी से अधिक संक्रमण वाले क्षेत्र D श्रेणी में हैं। 

धार्मिक स्थल पर 40 लोगों को इकट्ठा होने की इजाजत

साथ ही केरल में सीएम ने धार्मिक स्थल पर 40 लोगों को इकट्ठा होने की इजाजत है। सीएम ने निर्देश दिए हैं कि वहां के प्रभारी लोग ये सुनिश्चित करें कि इस संख्या का पालन किया जाएं। जारी किए गए दिशा निर्देशों के मुताबिक जो लोग कोरोना की कम से कम एक डोज लगवा चुके हैं, सिर्फ उनको ही धार्मिक स्थलों में प्रवेश की इजाजत दी जाएगी। 

केरल के सीएम ने कहा कि सबरीमाला में पूजा में शिरकत करने वाले लोगों की संख्या को बढ़ाया गया है। इसे 5 हजार से बढ़ाकर 10 हजार कर दिया गया। इसके अलावा ए और बी कैटेगरी वाले इलाकों में फिल्मों-शूटिंग की इजाजत दी गई। वहां पर कोरोना से जुड़े सभी प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करना होगा। 

केरल में जीका वायरस का भी बढ़ रहा खतरा

केरल में सिर्फ कोरोना के साथ जीका वायरस का कहर भी बढ़ने लगा है। राज्य में अब तक जीका वायरस के 30 तक मामले सामने आ चुके है, जिसके चलते परेशानी बढ़ने लगी। यही वजह है कि त्योहारों पर छूट देने की वजह से सरकार पर सवाल उठ रहे है। लोग कह रहे हैं कि सरकार के इस फैसले का संकट और गहरा सकता है। 

Ruchi Mehra
Ruchi Mehra
रूचि एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रूचि पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रूचि को वेब और टीवी का कुल मिलाकर 3 साल का अनुभव है। रुचि नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

अन्य

प्रचलित खबरें

© 2020 Nedrick News. All Rights Reserved. Designed & Developed by protocom india