बर्ड फ्लू की दहशत के बीच खाना चाहते है चिकन-अंडा? तो बस इस बात का रखें खास ध्यान…

By Ruchi Mehra | Posted on 8th Jan 2021 | देश
Bird flu crisis, bird flu

देश में कोरोना महामारी के बीच बर्ड फ्लू ने लोगों की परेशानी बढ़ाकर रख दी है। कई राज्यों में बर्ड फ्लू के मामले सामने आने के बाद सरकारें अलर्ट पर है। केरल से लेकर मध्य प्रदेश, राजस्थान समेत कई राज्यों में बर्ड फ्लू को लेकर दहशत बनी हुई है। हिमाचल प्रदेश में कई पक्षी इसकी चपेट में आ चुके है। राजस्थान-एमपी में कौवे और केरल में बत्ते इस वायरस का शिकार हुई।

कई राज्यों में बर्ड फ्लू को लेकर टेंशन

इसके अलावा कुछ दिनों में हरियाणा में एक लाख के करीब पोल्ट्री बर्ड्स की मौत हो चुकी है। बर्ड फ्लू एक जानलेवा बीमारी होती है, जो इंफ्लूएंजा टाइप-ए वायरस की वजह से फैलती है। संक्रमित पक्षियों के संपर्क में आने से दूसरे जानवरों और इंसानों में भी फैलने का खतरा होता है। मुख्य तौर पर पोल्ट्री फार्म में पलने वाली मुर्गियों से ये फैलना शुरू होता है।

इंसानों में फैलने का रहता है खतरा

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार किसी जीवित या मृत संक्रमित पक्षी के संपर्क में आने से बर्ड फ्लू हो सकता है। हालांकि ये इंसानों से इंसानों में इतनी आसानी से नहीं फैलता। इस बात के भी सबूत नहीं हैं कि पके हुए पोल्ट्री फूड से किसी इंसान को बर्ड फ्लू हो सकता है। वायरस ताप के प्रति संवेदनशील होता है और ये कुकिंग टेंपरेचर में नष्ट हो जाता है।

बर्ड फ्लू के वैसे तो कई प्रकार होते हैं। लेकिन H5N1 पहलाएवियन इंफ्लूएंजा है जिससे पहली बार कोई इंसान संक्रमित हुआ था। 1997 में पहला ऐसा मामला सामने आया था। ये वायरस आमतौर पर पानी में रहने वाले पक्षियों से होता है, लेकिन आसानी से पोल्ट्री फॉर्म में जो पक्षी रहते हैं, उसमें भी फैल सकता है और फिर इससे इंसानों में फैलने की संभावना भी बढ़ जाती हैं।

ऐसे खा सकते हैं अंडा-चिकन…

संक्रमित पक्षियों के मल, लार, नाक, मुंह या फिर आंख के स्राव के जरिए इंसानों में फैल सकता है। बर्ड फ्लू की दहशत की वजह से लोगों को अंडा-चिकन नहीं खाने की सलाह दी जा रही है। ऐसे में ये सवाल उठ रहा है कि क्या अंडा और चिकन खाने से ये बीमारी फैलती है?

अधपका या फिर कच्चा मांस और अंडा खाने से बर्ड फ्लू का शिकार होने की संभावना होती है। जिस वजह से फिलहाल लोगों को इससे दूर रहने की सलाह दी जा रही है। लेकिन अब मांस को अच्छी तरह से पकाकर मांस या अंडे को खाते हैं, तो इस बीमारी का खतरा नहीं रहता। WHO के मुताबिक कम से कम 70 डिग्री टेंपरेटर में अंडा या फिर चिकन पकाकर खाना चाहिए।

बचाव के लिए अपनाएं ये तरीके

बर्ड फ्लू से बचाव के और भी कई तरीके हैं। जैसे- पोल्ट्री फॉर्म में जाने से बचना चाहिए। अगर वहां जाना हो तो PPE किट पहनकर ही जाएं। संक्रमित पोल्ट्री फॉर्म में जाने और वहां काम करने वाले लोगों के संपर्क में आने से बचें। डिस्जोजेबल ग्लव्स पहनें और इस्तेमाल के बाद इनको नष्ट कर दें।

घर में पालतू पक्षियों को ना रखें। फिलहाल छोटी जगहों और खुले बाजारों से मांस की खरीददारी ना करें। हाथ धोते रहें, सैनिटाइजर साथ रखें। पक्षियों के संपर्क में ना आएं। अगर बर्ड फ्लू के लक्षण दिखे तो बिना देरी करें, तुरंत ही डॉक्टर के पास जाएं।

Ruchi Mehra
रूचि एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रूचि पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रूचि को वेब और टीवी का कुल मिलाकर 3 साल का अनुभव है। रुचि नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।
© 2020 Nedrick News. All Rights Reserved. Designed & Developed by protocom india