येदियुरप्पाण के करीबी Basavaraj Bommai बने कर्नाटक के CM, RSS से नहीं रहा है नाता

By Awanish Tiwari | Posted on 28th Jul 2021 | देश
Basavaraj Bommai, BJP Karnataka

कर्नाटक की सियासत में पिछले कुछ महीनों से बवाल मचा हुआ था। जिसके बाद राज्य के सीएम बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद इस बात की चर्चा तेज हो गई कि अब कर्नाटक का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा...येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद बीजेपी ने पर्यवेक्षक के तौर पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और जी किशन रेड्डी को बेंगलुरु भेजा। 

बीते दिन मंगलवार को विधायक दल की बैठक हुई और उसमें अब राज्य के अगले सीएम के लिए नाम फाइनल किया गया। येदियुरप्पा सरकार में राज्य के गृहमंत्री के रुप में काम कर रहे बसवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) कर्नाटक को नया मुख्यमंत्री बनाया गया। आज बुधवार सुबह 11 बजे उन्होंने सीएम पद की शपथ भी ले ली है।

पेशे से इंजीनियर रह चुके हैं बोम्मई

बसवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) के सीएम बनने के साथ-साथ गोविंद कारजोल, आर अशोक और श्री रामलु को राज्य का उपमुख्यमंत्री बनाया गया है। बोम्मई बीएस येदियुरप्पा के करीबी बताए जाते हैं और यह लिंगायत समुदाय से आते हैं। ऐसे में पार्टी ने एक तीर से दो निशाने लगा लिए है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री पेशे से इंजीनियर रहे हैं। 

उन्होंने साल 2008 में जनता दल सेक्युलर छोड़कर बीजेपी का दामन थामा था और तब से वह लगातार पार्टी के साथ बने हुए है। जनता दल सेक्युलर की ओर से वह दो बार विधायक रह चुके थे लेकिन बाद में उन्होंने बीजेपी ज्वाइन कर ली।

दूसरी ओर बसवराज बोम्मई बीजेपी नेता और केद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के करीबी बताए जाते है। बोम्मई को कई भाषाओं पर अच्छी पकड़ है। वह हिंदी, अंग्रेजी और कन्नड़ में पारंगत हैं। हालांकि बोम्मई का बैकग्राउंड आरएसएस का नहीं रहा है लेकिन उसके बावजूद भी उन्हें बीजेपी ने कर्नाटक का सीएम बना दिया है।

2 साल सीएम रहे बीएस येदियुरप्पा

बताते चले कि साल 2019 में जेडीएस और कांग्रेस के विधायकों के इस्तीफे के बाद बहुमत साबित न कर पाने की स्थिति में कुमारास्वामी को सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा था। जिसके बाद बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में बीजेपी ने कर्नाटक में पहली बार सरकार बनाई। पिछले सोमवार को येदियुरप्पा सरकार के 2 साल पूरे हुए और उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया। 

येदियुरप्पा के इस छोटे से कार्यकाल के दौरान तमाम चीजें उभर कर सामने आई। कई मौकों पर सरकार के मंत्री और बीजेपी के नेताओं ने अपनी ही पार्टी की सरकार के खिलाफ आवाज उठाए। कुछ विधायकों ने दिल्ली पहुंचकर आलाकमान से शिकायत भी की। 

जिसके बाद आखिरकार येदियुरप्पा को सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा। येदियुरप्पा के इस्तीफे के साथ ही राज्य में मंत्रिमंडल को पूरी तरह से भंग कर दिया गया था। आज बसवराज बोम्मई के शपथ ग्रहण के साथ ही पूरे मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण हुआ।

Awanish  Tiwari
Awanish Tiwari
अवनीश एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करतें है। इन्हें पॉलिटिक्स, विदेश, राज्य, स्पोर्ट्स, क्राइम की खबरों पर अच्छी पकड़ हैं। अवनीश को वेब और टीवी का कुल मिलाकर 3 साल का अनुभव है। यह नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करते हैं।

अन्य

प्रचलित खबरें

© 2020 Nedrick News. All Rights Reserved. Designed & Developed by protocom india