अमरावती मर्डर केस के मास्टरमाइंड इरफान को पुलिस ने दबोचा, मृतक के भाई ने किया सनसनीखेज खुलासा

By Priyanka Yadav | Posted on 3rd Jul 2022 | क्राइम
amravati murder case, new disclosure

राजस्थान के उदयपुर में हुई बेरहमी से हत्या की तरह ही महाराष्ट्र के अमरावती में भी 21 जून मर्डर को अंजाम दिया गया था। जहां उमेश कोल्हे नाम के शख्स की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर एक पोस्ट करने को लेकर उमेश की हत्या कर दी गई थी।

इस केस को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने NIA को सौंप दिया है। एनआईए इस मामले की छानबीन कर जांच करेगी। इस घटना को लेकर अब तक कुल 7 लोगों की गिरफ्तारी की हो चुकी है। इससे पहले 5 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। NGO चलाने वाले कथित मास्टरमाइंड 35 साल के इरफान खान को शनिवार रात नागपुर से और 44 साल के पशु चिकित्सक यूसुफ खान को शुक्रवार रात अमरावती से गिरफ्तार किया गया था।

मृतक के भाई का सनसनीखेज खुलासा

इस केस को लेकर मृतक उमेश के छोटे भाई महेश कोल्हे ने सनसनीखेज खुलासा किया है। महेश ने बताया कि हत्या के आरोपियों में शामिल यूसुफ उमेश का बेहद करीबी दोस्त था। यूसुफ उमेश के अंतिम संस्कार में भी मौजूद था। महेश के मुताबिक, उमेश का वेटरनरी केमिस्ट का बिजनेस था जबकि मुख्य आरोपी यूसुफ वेटरनरी अस्पताल में काम करता था, इसी वजह से दोनों में गहरी दोस्ती हो गई थी।

अनजाने में हुआ मेसैज फॉरवर्ड

महेश ने बताया कि उनके भाई उमेश की हत्या का आरोपी यूसुफ एक whatspp ग्रुप का एडमिन था। जिसमें अनजाने में उमेश ने नूपुर शर्मा के समर्थन भरा पोस्ट उसी ग्रुप में फॉरवर्ड कर दिया। महेश ने आगे कहा कि उनके भाई को मांफी मांगने तक का मौका नहीं दिया गया।

पुलिस ने इरफान को बताया मास्टरमाइंड

अमरावती की पुलिस कमिश्नर आरती सिंह ने इरफान को मास्टरमाइंड बताया। कमिश्नर ने कहा कि हम उनके एनजीओ के बैंकिंग लेनदेन की जांच कर रहे हैं। पहले गिरफ्तार किए गए पांच में से चार इरफान के दोस्त थे और उन्होंने इरफान के एनजीओ के साथ अपनी इच्छा से काम किया। 

CCTV फुटेज आया सामने

वहीं इरफ़ान पर आरोप है कि उसने हत्या की प्लानिंग करने के साथ ही संदिग्धों को मुख्य काम सौंपे और गाड़ी के साथ नकदी भी दी। इसके अलावा घटना का सीसीटीवी फुटेज भी आ गया है। फुटेज में दिख रहा है कि मृतक उमेश एक मोटरसाइकिल पर जा रहे थे और उनका बेटा भी दूसरी बाइक पर उनके साथ जा रहा था। 

मृतक के बेटे ने की FIR दर्ज

मृतक के बेटे संकेत ने FIR दर्ज करवाई है, FIR में बताया गया है कि रात 10 से 10:30 बजे के बीच जब उमेश अपने घर लौट रहे थे, उस दौरान उनकी हत्या कर दी गई। बेटे संकेत संकेत ने आगे बताया कि बाइक पर सवार दो आदमी अचानक मेरे पिता की स्कूटी के सामने आ गए। उन्होंने मेरे पिता की स्कूटी को रोका और उनमें से एक ने चाकू से उनकी गर्दन के बाईं ओर वार कर दिया।

नवनीत राणा का पुलिस कमिश्नर पर आरोप

अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने जिले के पुलिस कमिश्नर पर हत्या को दबाने और इस मामले को डकैती के तौर पर पेश करने का आरोप लगाया। इसके अलावा पुलिस कमिश्नर के खिलाफ जांच करने की मांग उठाई।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि बीते 21 जून की रात को महाराष्ट्र के अमरावती में फार्मासिस्ट उमेश कोल्हू की हत्या कर दी गई थी। उदयपुर मर्डर केस की ही तरह यहां भी निलंबित बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा का समर्थन करने वाले Whatsapp पोस्ट को लेकर हत्या को अंजाम दिया गया। 54 साल के उमेश कोल्हू देर रात अपने घर लौट रहे थे, तभी तीन लोगों ने उनकी हत्या कर दी। उनकी पत्नी और बेटा दोनों अलग गाडियों पर सवार थे, जिसके कारण वे उमेश को बचा ना सके। अमरावती जिले के पुलिस उपायुक्त विक्रम साली ने कहा कि अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, पूछताछ में आरोपियों ने कबूला कि उन्होंने नूपुर शर्मा के समर्थन भरे पोस्ट को लेकर उमेश कोल्हे की हत्या की।

Priyanka Yadav
Priyanka Yadav
प्रियंका एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। प्रियंका पॉलिटिक्स, हेल्थ, एंटरटेनमेंट, विदेश, राज्य की खबरों, पर एक समान पकड़ रखती है। प्रियंका को वेब और टीवी का कुल मिलाकर ढाई साल का अनुभव है। प्रियंका नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

Leave a Comment:
Name*
Email*
City*
Comment*
Captcha*     8 + 4 =

No comments found. Be a first comment here!

अन्य

प्रचलित खबरें

© 2022 Nedrick News. All Rights Reserved.