यहां अभी तक इन दो नेताओं का शव रखा हुआ वैसे ही सुरक्षित, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

By Ruchi Mehra | Posted on 17th Feb 2021 | अजब गजब
interesting facts about kim jong, Kim Jong-il

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग को शायद ही ऐसा कोई शख्स हो जो न जानता हो, इनकी पहचान के लिए तो केवल नाम ही काफी है. ये सदैव अपने देश में परमाणु हथियारों के निर्माण को लेकर चर्चा में बने रहते हैं. वहीं आज हम आपको इनके बारे में ऐसी बात बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे, शायद आपको इस बात पर यकीन न हो, लेकिन ये सच है कि इन्होंने अपने पिता और दादा के शवों को आज तक सुरक्षित रखा हुआ है.

दरअसल, किम जोंग के पिता किम जोंग इल और उनके दादा किम जोंग इल सुंग के शव आज भी पहले की तरह वैस ही सुरक्षित रखे हुए हैं. आपको बता दें कि एम्बामिंग की मदद से शवों को लचीला और त्वचा को जवां बनाए रखा जा सकता है, जिसके चलते किम जोंग ने भी अपने पिता और दादा के शवों को कुमसुसन मेमोरियल पैलेस में सुरक्षित रखा हुआ है. बता दें कि इस पैलेस को विशेष तौर पर इन दोनों नेताओं के शवों के लिए ही बनवाया गया था.

जानकारी के अनुसार यहां पर इस तरह का रिवाज भी है, जिसके दौरान जो भी व्यक्ति कुमसुसन पैलेस के पास जाएगा उसे इन शवों के सामने 3 बार झुकना होगा. इसके अलावा इसमें खासियत ये है कि कुमसुसन मेमोरियल पैलेस की सुरक्षा भी की जाती है. जिसके लिए वहां पर 24 घंटें सैकड़ों जवान तैनात रहते हैं.

आपको बता दें कि किम जोंग के पिता और दादा के शवों को हर 2 साल पर एम्बामिंग किया जाता है, साल 2016 में मॉस्को में रिलीज की गई एक रिपोर्ट के अनुसार इन दोनों के शवों की पहली बार एम्बामिंग में लगभग दो लाख डॉलर यानी एक करोड़ 41 लाख रुपये तक का खर्च आया था.

सूत्र के मुताबिक इन शवों को लेनिन लैब के वैज्ञानिक टीम ने ही संरक्षित रखा हुआ है. बता दें कि 1924 में रूसी नेता व्लादिमीर लेनिन का अंतिम संस्कार नहीं किया गया था और उनके शव की एम्बामिंग इन वैज्ञानिकों ने ही की थी, आज भी ये मॉस्को के रेड स्कवेयर में रखे हुए हैं. वहीं अब इन वैज्ञानिकों की टीम किम जोंग के पिता और दादा के शवों को भी एम्बामिंग से सुरक्षित रखा हुआ है.

Ruchi Mehra
रूचि एक समर्पित लेखक है जो किसी भी विषय पर लिखना पसंद करती है। रूचि पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ, विदेश, राज्य की खबरों पर एक समान पकड़ रखती हैं। रूचि को वेब और टीवी का कुल मिलाकर 3 साल का अनुभव है। रुचि नेड्रिक न्यूज में बतौर लेखक काम करती है।

अन्य

लाइफस्टाइल

© 2020 Nedrick News. All Rights Reserved. Designed & Developed by protocom india